गाड़ी चलाना कैसे सीखे? Car कैसे चलाये Step By Step जानकारी

दोस्तो, आप इस पोस्ट मे आये हो तो इसका मतलब हो सकता है की आप गाड़ी चलाने के वारे मे सीखना चाहते हो। काफि लोगो को गाड़ी चलाना नहीं आता! आपको बता दु की गाड़ी चलाना इतना भी मुस्किल काम नहीं हैं। अगर आप अच्छी तरह से practice करे तो, आप कुछ दिनों मे ही गाड़ी चलाना सिख सकते हो। आप पुरुष हो या महिला, इसमें कोई फड़क नही पड़ता ! कोई भी इंसान गाड़ी चलाना सीख सकता है। इस पोस्ट मे हम आपको Car Driving के वारे मे कुछ ज्ञान देने वाले हैं जिससे आपको काफि मदद होंगी। इसलिए इस पोस्ट को मन लगाकर पढ़े।

Car चलाना कैसे सीखे

शुरूवात कैसे करें:

सबसे पहले आप गाड़ी चलाने की basic concept के वारे मे सीखना और समझना होगा। जैसे की – Gear कैसे लगाते हैं, accelerator कैसे काम करता हैं, clutch कैसे काम करता हैं, गाड़ी की steering कैसे इस्तेमाल करें आदि। इन basic concept को सीखने के बाद आप ड्राइविंग की practice के लिये उतर सकते हो। आपके पास यदि खुदका गाड़ी नहीं है तो coaching center या किसी दोस्त की गाड़ी मे भी सिख सकते हो। अगर आपको सड़कों मे direct ड्राइविंग करने मे डर लगे तो आप किसी खाली मेदान मे भी practice कर सकते हो।

गाड़ी कैसे चलाते/ड्राइविंग करते हैं:

Step 1-

सबसे पहले आप गाड़ी की सीट मे आराम से बेठ जाइये, बेठते वक्त ये ध्यान रखे की आप comfortable हो। अगर आप comfortable नहीं हो तो सीट को अपनी हिसाब से adjust भी कर सकते हो।

Step 2-

गाड़ी को ग्रति प्रदान होने के लिये इंजन का स्टार्ट होना जरूरी है, इसलिए आप गाड़ी की चाबी लगाकर अपनी Car को स्टार्ट कीजिये। लेकिन गाड़ी को स्टार्ट करने से पहले आप ये जरूर ख्याल रखे की गाड़ी का गियर न्यूट्रल मे हो और आपके लेफ्ट पैर गाड़ी की clutch के ऊपर हो।

Step 3-

गाड़ी स्टार्ट हो जाने के बाद, अब वो गाड़ी चलने के लिये ready है। अगर गाड़ी का गियर न्यूट्रल मे है तो उसे first gear मे लगाइये। उसके बाद गाड़ी की clutch को धीरें से छोड़कर accelerator को धीरें से दबाये। ऐसा करने से आपकी गाड़ी धीरे धीरे आगे सलने लगेंगे। अब अपने हाथों से गाड़ी की steering से गाड़ी को कंट्रोल करियेे और ड्राइविंग की मजा लीजिए।

Step 4-

जैसे जैसे आपकी गाड़ी की speed बढ़ने लगेंगे तैसे तैसे गाड़ी की gear को पहले से दूसरे फिर दूसरे से तिसरे मे change करते जाइये। गाड़ी की speed और distance के हिसाबसे ही गाड़ी की gear को change करें। आप ये बात जरूर ध्यान रखे की clutch को पुरा दबा के ही gear को change करें.

Step 5-

अगर गाड़ी की स्पीड स्लो हो गयी तो उसी वक्त gear को डाउन कर दीजिये। गाड़ी की स्पीड के अनुसार gear को डाउन करे और अगर आप गाड़ी को रोकना चाहते हो तो गियर को वापस न्यूट्रल या first gear मे ले आये। बता दे की गाड़ी की speed के हिसाब से gear को change करते रहना बहुत ही जरूरी है, नही तो आपकी इंजन में दबाब होंगे और इंजन बंध होने की संभावना होती है।

Read More- गाड़ी के इंजन कैसे बनता हैं। Car Engine कैसे काम करते हैं?

गाड़ी को reverse कैसे करें:

दोस्तो बहुत से लोग गाड़ी को back करने या reverse करने की वारे मे ज्यादा ध्यान नहीं देते। आपको बता दु की पिछे से चलाना इतना आसान नहीं हैं जितना आसान आगे चलाने मे होता है। पार्किंग करते समय गाड़ी को गाड़ी को reverse करना अच्छी तरह से आना चाहिये।

गाड़ी को पिछे चलाने के लिये gear को reverse मे शिफ्ट करिये फिर accelerator को धीरें से दबाये। ऐसा करने से आपकी गाड़ी पिछे चलने लगेंगे। Back करने के लिये गाड़ी का back side देखना बहुत ही जरूरी हैं, इसलिए आप back mirror को अच्छी तरह से घुमा लीजिए। कुछ गाड़ीयों मे पिछे देखने के लिये back camera भी होता हैं जिससे ड्राइवर को गाड़ी को reverse करने मे आसान होती हैं।

ड्राइविंग सीखने के लिये कितना समय लग सकता हैं:

आपको गाड़ी चलाना अच्छे से सीखने के लिये कितना समय लगेगा ये इस बात पर निर्भर करते है की आपने कितना practice किया और आपने कितना experience ले सुकि है। वैसे तो आप 7 से 8 दिनों मे गाड़ी चलाना सिख कर सड़क मे ड्राइविंग कर सकते हो। लेकिन एक pro driver या public road मे अच्छी तरह से गाड़ी चलाने के लिये आपको 2 से 3 महीने की समय लग सकता हैं।

आजकल की कुछ मॉडर्न गाड़ीयों मे auto gear होते है जहाँ आपको गियर change करने की कोई जरूरत नहीं हैं। आपकी गाड़ी की सिस्टम automatically काम करने लगेंगे। इस तरह की गाड़ीयों को आप 2 से 3 दिन मे भी सिख सकते हो।

ड्राइविंग करते समय कुछ जरूरी बाते:

दोस्तो गाड़ी चलाते वक्त ड्राइवर की नज़र हमेशा सामने की तरफ होनी चाहिये। कुछ नये लोग ये गलती करते है की वो गाड़ी चलाते वक्त कौनसी gear मे गाड़ी चल रही है वो भूल जाते है और वो वापस gear की और देखते हैं। आपको ऐसा बिल्कुल भी नहीं करना हैं, नहीं तो आपकी गाड़ी accident भी हो सकता हैं।

गाड़ी चलाते वक्त हमे फोन मे भी बात नहीं करनी चाहिये क्यूंकि इससे हमारा मन distract हो सकता हैं। एक ड्राइवर को ये बात भी मालूम होना चाहिये की उसकी गाड़ी कौनसी gear मे चल रही हैं। इन बातो को ध्यान रखने से आप एक बेहतर ड्राइवर बन पाएंगे।

Conclusion:

दोस्तो गाड़ी चलाते वक्त हमे कभी भी नर्वस नहीं होना चाहिये। नये लोग गाड़ी चलाते वक्त अपनी डर के कारण गाड़ी को कंट्रोल नहीं कर पाते। गाड़ी चलाते समय हमारी mindset सही होना बहुत ही जरूरी है।

हम पूरी उम्मीद करते हैं की आपको गाड़ी चलाते की वारे मे काफि ज्ञान मिल सुका हैं। अगर आपको कोई भी सवाल पूछना है तो आप बेफिकर होकर पूछ सकते हो। इस पोस्ट को share करके दूसरे लोगो की मदद करें.

Leave a Reply